Business Strategies in Hindi - व्यापार की रणनीतियाँ जानिए हिंदी में

हेलो दोस्तों आज के टाइम मैं काफी जयादा लोग है आपके आसपास मैं इनमें से कोई लोग  Business करते है और काफी जयादा लोग जो Business नहीं करते है,जो लोग Business नहीं करते उसको मैं एक Suggestion देता हूँ की ये आर्टिकल को पढ़े।  तो आज मैं आपको वोह Business की Strategies को बताने वाला हूँ जो आपको Business को Expand करने मैं बहुत ही काम आएगी तो चलिए दोस्तों जानते है इसके बारे मैं।

Business Strategies in Hindi


दोस्तों सबसे Important point यह है की आप  बिज़नेस मैं कामियाब होना चाहते है First Short Trem Menatality को छोड्ना पड़ेगा यानि छोटे वेपारी की तरह सोचना बन्ध करना पड़ेगा बड़े व्यापरी की तरह सोचना पड़ेगा यानि बड़े व्यापरी और छोटे व्यापरी मैं क्या Diffrent है छोटे व्यापरी सोचता है की मेरा Product का Sell हो जाये और Profit आ जाये और बड़े व्यापरी सोचता है की मैं अपनी Product को Brand  कैसे बनाऊ और मैं अपना सिस्टम कैसे बनाऊ की मुझे पैसा आता रहे  ये Diffrent  है दोनों के बीच का।

कोई  भी बड़ी Company के अंदर opration होते है यानि कंपनी की Growth,Company के Employee अच्छे से काम करते है की नहीं फिर company के Hr ,Sells , Marketing सभी टाइप के opration को देखना पड़ता है Company का Goal होता यानि Vision होता है की हम अगले दो साल - पांच साल मैं क्या अचीव करने वाले है उसका फिक्स होता है। अक्शर छोटे वेपरियो के पास कोई भी Strategies नहीं होती के पास न तो कोई Goal है ना तो कोई vision है उसके पास कुछ भी क्लियर नहीं होता  इसलिए छोटे वेपरियो छोटे बनकर  रह जाते है।

Business के अंदर दो चीज़े बहुत ही Important होती है पहली Scalability और दूसरा Profitability,

हमारा Product कितना जयादा बिक सकता है, कहा पर बिक सकता है ये Scalability के भीतर आता है और Profitability  के अंदर  Business के Profit  नहीं है तो मार्किट को Servive नहीं कर पाएंगे। market मैं टकना है Servive करना  पड़ेगा।


Business Strategies in Hindi


तो दोस्तों Business मैं आगे बढ़ने के लिए Strategies बनानी पड़ेगी आज हम A पर है क्ल हमको B पर जाना है तो Strategies बनानी ही बनानी पड़ेगी तभी जाके हम Business मैं  Sucess हो  सकेंगे।

Also read this Post:- How to Start a Startup | कैसे Business स्टार्ट करे 

Business Strategies के दो  Type  की होती है।

1. Cost Leadership Strategies
2. Differential Business  Strategies

1. Cost Leadership Strategies
यह पे आप कोई Product बनाते है उस Product के ऊपर कितनी Cost आती हो और Margin कितना लगेगा ये पॉइंट के अंदर आएगा इसको बोलते है
Cost Leadership Strategies बोलते है।

2. Differential Business  Strategies
ये Strategies Product किसी Product ऊपर बनि हुई है अगर आप मार्केट के अंदर आपकी प्रोडक्ट को Uniq बनाना चाहते हो तो ये Strategies बहुत ही काम की है आपकी प्रोडक्ट को Register करवा दो और Monopoly create कर देते हो तो आपका आपकी Product  Differential  Product  बन जाएँगी। और Compition घट जाएगी और मार्केट मैं रहना सरल हो जायेगा। 

तो चलिए दो Example के दवारा समझते है Business की Strategies 
  • Flipkart vs Wallmart deal Business Strategies
  • Why Prices End with ₹99 Business Strategies


Flipkart vs Wallmart deal Business Strategies

पहला  सवाल तो ये की Wallmart ने Flipkart को क्यूँ ख़रीदा ??

IIT के दो Student थे sachin और binny bansal  ने यह Company start की थी. वह लोग Amazon मैं वर्क कर रहे थे तब जाके उन्हें आईडिया आया की हम भि ऐसी company इंडिया मैं Start करे, Starting मैं Flipkart कंपनी Books ही बेचती थी उन्हों ने 4 lacks मैं ये Company स्टार्ट की थी तब धीरे-धीरे उनको Start -up मैं Funding मिलनी लगी Soft बैंक 2.5 Billion का इन्वेस्टमेंट किया Microsoft ने इनका स्टॉक ख़रीदा। अब बात करते है Invester की तो uske पास इतने पैसे होते है की वॉह किसी Start-up मैं Investment करना चाहते है, वोह जानता है किसी दिन तो ये Company बड़ी होगी और उसका स्टॉक भी उतना बड़ा होगा। Soft Bank के पास  जितना भी शेर था उनको Wallmart ने ख़रीदा और  २०% गुना Return दिया और  Flipkart ने  भी अपना 5% शेर  Wallmart को बेच दिया Return लिया। अब ये टोपी वॉलमार्ट ने पहनी सारे इन्वेस्टर के शेर अब Walmart के पास थे।

Wallmart Usa का सबसे बड़ा ऑफलाइन  का Retail Market है Usa मैं Walmart और Amazon के बीच मैं एक टककर चलती रहती है अब Walmart को Online भी जाना है तो उन्हें इंडिया मैं Flipkart मिला जो आज भी Amazon से आगे है Flipkart के पास मार्किट शेर 32% है और Amazon के पास 31% है इंडिया मैं  सबसे  जयादा Product Flipkart के बिकते है इसलिए walmart ने सोचा क्यूना  Flipkart को  ख़रीदा जाये क्यूंकि किसी एक देश मैं वोह आगे बढ़ेगी तो ऑटोमेटिक दूसरे देश मैं आगे बढ़ पाएंगी। अब ये Model Sucessfull होता है तो बाकि देश मैं Replacement कर पाएंगी।

paytm मैं देखे तो Alibaba का Investment लगा हुआ है सभी बड़ी कंपनी मैं बहार का Investment लगा हुआ है अब देश मैं बड़ी Fight चालू होगी ना तो Flipkart को प्रॉफिट होगा और ना तो वालमार्ट को प्रॉफिट होगा लेकिन ऑफर के लाभ हमको मिलेगा।  Economy की बात करे तो सारा Profit तो विदेश मैं चला जाएंगे और थोड़ा लोस्स तो इंडिया को होगा  यानि flipkart सारी product Jabong,Phonpay,Mayntra  Walmart की हो गई।  और इससे इंडिया मैं एक फायदा तो है 1 Crorr से जयादा जॉब Create होगी। धीरे - धीरे Customer Service,Customer Loyalty, Customer Retention और Invation मैं भी बदलाव आएंगे। 

Acquisition:-  यहाँ पे Tata ने lend Rover को खरीद लिया,Google ने You Tube को खरीद लिया, Facebook ने Whatsapp को खरीद लिया कोई भी कंपनी किसी कंपनी का 51% शेर खरीदती है तो इसको बोलते है Acquisition

Why Prices End with ₹99 in Hindi? क्यों Prices 99 के साथ समाप्त होती हैं Business Strategies 


दोस्तों आप लोग Big-Bazaar मैं या किसी भी मोल मैं जाते है तो वह की Price 99,999,9999 इस तरह होती, अगर आपको  Jens खरीदना है तो Price 999 होती है , Mobile खरीदना है तो उसकी प्राइस कुछ इस तरह से 9999 से होती है, क्या कभी अपने सोचा है की इसकी प्राइस ऐसी क्यूँ होती है तो चलिए जानते है इसके पीछे का Business Model

ऐसी Price से Customer के दिमांग मैं Pchycological  भ्रम पैदा करने के लिए  होता है मान लो की आपने एक फोन ख़रीदा उसकी Price 20,400 है अगर आपको पूछता है की क्या Price मैं  फोन आया था।  तो आप Round-Figer करके ही बताओगे 20,000 घुमा-फिरके Product को बेचने के लिए सारी Techniq को Use किया जाता है। इसलिए Product की price इतनी बताई जाती है।

Second Reason इसके पीछे है वोह है Black Money आप सोचते होंगे की ये कैसे Possible है मान लो की आप Big-Bazaar मैं गए वह अपने एक jens खरीदी उसकी Price  999 है अब आप जब Check-Out करते है इस Product तो 1000 pay करते हो 1  Rupiya वापस नहीं लेते हो मान लो की Big-Bazaar India मैं 250 Mall है तो 1 Mall मैं 100 Customer प्रति दिन आता है तो 100 * 250 = 25000 Rs. प्रतिदिन का हो गया अब Monthly देखे तो 25000 * 30  = 750000 Rs. हो गया कितनी सारी Black - Money Genrate हो गई तो दोस्तों Yelarly तो उसकी बात ही ना करो कितनी Black-Money हो जाएगी।  तो ये Mentality चलती है हमारे Indian लोगो की मेरा Suggestion है आप लोगो को ये आपका हक़ है ये पैसा को  वापस लेना सीखो। इससे तो Better है की आप रास्ते पे किसी को दान कर दो इससे लोगो का भला तो हो।

अगर आपको Status को Mentain करने के लिए Digital payment करना चालू करो Debit-card ,Credit-card ,Paytm और Phonpay का भी उसे कर सकते है इसके पीछे आपका पैसा भी नहीं जायदा नहीं जाएगा ये जयादातर Offline ही होती है Online मैं तो ऐसा नहीं होता होगा।

आप अपने व्यापार के लिए इनमे से कोई भी मार्केटिंग का तरीका यूज़ कर सकतें है. यह पुर्णतः आपके बिज़नेस के प्रकार और आपकी लोकेशन पर निर्भर करता है कि आप कौनसा तरीका चुनते है. परन्तु किसी भी निर्णय पर पहुँचने से पहले आपको अपने बिज़नेस के लिए एक परफेक्ट प्लान बना लेना चाहिए और उसी के हिसाब से आगे बढ़ना चाहिए ताकि आप अपने व्यापार में उचित सफलता पा सकें।

Conclusion:-मुझे उम्मीद है कि मेरा ये Article "Business Strategies in Hindi - व्यापार की रणनीतियाँ " आज आपके लिए उपयोगी होगी और आप बहुत जल्द अपने व्यवसाय में लाभ प्राप्त करने में सक्षम होंगे।अगर आपको Question है हमें पूछ सकते है। अपने दोस्तों के साथ Share कीजिये ताकि वोह जान सके Business Strategies.

Related Post:-
                        अपने कस्टमर को कैसे Loyal बनाते?
                        What is Business Model - Business मोडल क्या है उसे कैसे बनाया जाता है ??
                        What is Lic Of India in Hindi - Lic of India क्या है ??
                      

Post a Comment

3 Comments

  1. Wah bhai 99 wala acche se samjhya
    Good

    ReplyDelete
    Replies
    1. Asa hi Article Padhne ke liye hamare blog ko Subscribe kare
      Thanks

      Delete
  2. nice article bhai , kya aade ap mujhe ik guest post de sakte hain main ik blogger and seo main kam karta hun hun hindi samachari jaise website khoj rha hun

    ReplyDelete

please do not enter any spam link in the comment box.

Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)